बारह लाइन लिखी,बन गए साहित्यकार - SPIC MACAY Chittorgarh
Headlines News :
Home » » बारह लाइन लिखी,बन गए साहित्यकार

बारह लाइन लिखी,बन गए साहित्यकार

Written By ''अपनी माटी'' वेबपत्रिका सम्पादन मंडल on 28/04/2010 | 2:42:00 pm

रचनाकार पर छपा है हाल लिखा व्यंग

सादर,

माणिक
आकाशवाणी ,स्पिक मैके और अध्यापन से जुड़ाव
http://maniknaamaa.blogspot.com
http://facebook.com/manikspicmacay
http://twitter.com/manikspicmacay
--------------------------------------------------
''काव्योत्सव'' में 25 मई तक
प्रकृति,बरसात,सावन,आषाड़,धूप,किसान,विरह,जनवाद,दलित विमर्श,अबला-सबला विमर्श,समाजवाद,विषम समाज विषय पर कवितायें आमंत्रित है.जिनका प्रकाशन http://apnimaati.blogspot.com पर 1 जून से होगा.
Share this article :

Our Founder Dr. Kiran Seth

Archive

Follow by Email

Friends of SPIC MACAY

 
| |
Apni Maati E-Magazine
Copyright © 2014. SPIC MACAY Chittorgarh - All Rights Reserved
Template Design by Creating Website Published by Mas Template